kaal in hindi I types of kaal in hindi

दोस्तो आज हमलोग काल (kaal in hindi) के बारे में पढ़ेंगे। काल से जुड़े कई सवाल परीक्षा में पूछे जाते हैं। इस लेख में हमलोग काल को विस्तार से समझेंगे। जैसे काल क्या है कितने प्रकार के होते हैं , इत्यादि !

kaal in hindi

काल का अर्थ “समय या अवधि ” होता है। ” क्रिया के जिस रूप से उसके होने का समय और पूर्णता या अपूर्णता का बोध होता है। उसे काल कहते है।

काल तीन प्रकार के होते है। (types of kaal in hindi)

• वर्तमान काल kaal in hindi
• भूतकाल
• भविष्य काल

1. वर्तमान काल

जिस काल का आरम्भ हो चुका हो , पर समाप्ति नहीं हुई हो, उसे ही वर्तमान काल कहते है।
यानी वर्तमान काल में गुजर रहे समय में होनेवाले कार्य के बारे में बताया जाता है। जैसे_

• बच्चे स्कूल जाते हैं।
• मां खाना बना रही है।
• सर स्कूल में पढ़ा रहे होगे।

वर्तमान काल तीन प्रकार के होते है।

• सामान्य वर्तमान
• तात्कालीन वर्तमान
• संदिग्ध वर्तमान

A. सामान्य वर्तमान kaal in hindi

सामान्य वर्तमान से स्वभाव , आदत , दिनचर्या , सामान्य जीवन चक्र और सामान्य घटना क्रम की अभिव्यक्ति होती है।
सामान्य वर्तमान की क्रिया में आवश्यकता अनुसार ता है/ ती है / ते है शब्द लगाए जाते है।

जैसे_
• मोहन स्कूल जाता है।
• बच्चे मैदान में खेलते है।
• माली आम तोड़ता है।
• मोची जूते पॉलिश कर्ता है।
• मै रोज शाम को क्लब जाता हूं।
• वह प्रतिदिन देर से उठता है।

B. तात्कालीन वर्तमान

तात्कालीन वर्तमान में क्रिया की निरंतरता का बोध होता है। यानी तात्कालीन वर्तमान में कोई कार्य आरंभ हो चुका है जो अभी तक चल रहा है।

तात्कालीन वर्तमान की क्रिया में आवश्यकता अनुसार रहा है/ रही है / रहे है शब्द लगाए जाते है।

जैसे_
• मैं आजकल हिंदी व्याकरण की पुस्तके पढ़ रहा हूं।
• राहुल गांधी आलू से सोना बना रहे है।
• सुनील गर्मी की छुट्टी में गोवा जा रहा है।
• मोदी जी भाषण दे रहे है।
• कवि कविता पढ़ रहा है।
• मदारी खेल दिखा रहा है।

C. संदिग्ध वर्तमान

जिस क्रिया से संदेह प्रकट हो, उसे संदिग्ध क्रिया कहते है।
संदिग्ध वर्तमान की क्रिया में आवश्यकता अनुसार ता रहा होगा/ ती रही होगी/ ते रहे होगे शब्द लगाए जाते है।

जैसे_
• चौकीदार पहरा देता रहा होगा।
• हिमालय में बर्फ पिघल रही होगी।
• बच्चे फुलबॉल खेल रहे होगे।
• मोहन मूवी देख रहा होगा।

kaal in hindi
kaal in hindi

2. भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से किसी कार्य के बीते समय में होने का बोध होता है ,उसे भूतकाल कहते है।
जैसे_
• चंदन खाना खा रहा था।
• बच्चे नदी में स्नान कर रहे थे।
• मैडम स्कूल में पढ़ा रही थी।
• हमलोग गाना गा रहे थे।
• कालिदास ने मेघदूत लिखा था।

भूतकाल के छः प्रकार होते है।

• सामान्य भूतकाल
• आसन्न भूत काल
• पूर्ण भूतकाल
• संदिग्ध भूतकाल
• अपूर्ण भूतकाल
• हेतूहेतूमदभुत भूतकाल

सामान्य भूतकाल

जिस क्रिया से किसी कार्य के बीते समय मे होने का बोध होता है उसे सामान्य भूतकाल कहते है। जैसे_

• अंग्रेजो ने भारत को दो भागों में बाटा ।
• अमेरिका ने जापान पर बम गिराया।

आसन्न भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से किसी कार्य के निकट भूत या तत्काल समाप्त होने का बोध होता है। उसे आसन्न भूतकाल कहते है।

• मोहन परिक्षा में पास कर चुका है।
• पहरेदार पहरा दे चुका है।

पूर्ण भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से यह विदित हो की उसके व्यापार को समाप्त हुए बहुत देर हो चुका है। यानी कोई क्रिया बहुत पहले हो चुकी है।

जैसे_
• मोहन परिक्षा में पास कर चुका था।
• अंग्रेजो ने भारत को दो भागों में बाट चुका था।

संदिग्ध भूतकाल

जिस क्रिया से बीते हुए समय में क्रिया की पूर्णता में संदेह रहता है।
जैसे_
• मोहन परिक्षा में पास कर चुका होगा।
• पहरेदार पहरा दे चुका होगा।

अपूर्ण भूतकाल

जिस क्रिया से यह विदित होता है की बीते हुए समय में कोई क्रिया जारी थी, यानी पूर्णता को प्राप्त नही हुई थी। जैसे_
• हमलोग मूवी देख रहे थे।
• उस समय कृष मूवी चल रही थी।

हेतूहेतूमदभुत भूतकाल

हेतु का अर्थ है कारण या प्रयोजन । हेतूहेतूमदभुत भूतकाल की क्रिया से यह स्पष्ट होता है की बीते हुए समय में कोई कार्य संपन्न होता, लेकिन किसी कारण से संपन्न नहीं हो सका।
जैसे_
• मोहन पास हो गया होता अगर वह ठीक से पढ़ाई करता।
• मौसम सुहाना होता अगर बारिश न होती।

3 . भविष्य काल

जिस क्रिया से किसी कार्य के आने वाले समय मे होने का बोध होता है, उसे भविष्य काल कहते है।
जैसे_
• राहुल बाजार जाएगा।
• मैं कल से कॉलेज जाऊंगा।

भविष्य काल तीन प्रकार के होते हैं।

• सामान्य भविष्य काल
• संभाव्य भविष्य काल
• हेतूहेतूमदभुत भविष्य काल

सामान्य भविष्य काल

सामान्य भविष्य काल का प्रयोग भविष्य में कभी होने वाली क्रिया के लिए , संभावना के लिए या किसी अनिश्चित कार्य के लिए होता है। जैसे_

• मैं कल कॉलेज जाऊंगा।
• मै कल खाना बनाऊं गा।

संभाव्य भविष्य काल

जिस क्रिया से भविष्य मे किसी कार्य के होने की संभावना व्यक्त की जाए। जैसे_

• शायद आज सफाई कर्मचारी आएंगे।
• शाम होने चली है, अब वह काम से लोट रहा होगा।

हेतूहेतूमदभुत भविष्य काल

इसमें भी भूतकाल की तरह किसी क्रिया का भविष्य में होना या न होना किसी कारण की उपस्थिति पर निर्भर करता है। जैसे_

• वह लगन से पढ़े तो , विद्वान ही हो जाए।
• ठंड बढ़ती रहे तो जल्द गर्म कपड़े निकालने पड़ जाए।

Leave a Comment