sarvanam in hindi

दोस्तो आज हमलोग जानेंगे सर्वनाम (sarvanam hindi )के बारे में और इसके प्रकार के बारे में । सर्वनाम हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण अंग है। यदि आप सर्वनाम की परिभाषा और प्रकार के बारे में जानना चाहते है तो आप इस लेख को जरूर पढ़े ,जहां मैं सर्वनाम को उदाहरण के साथ विस्तार से बताया है।

सर्वनाम की परिभाषा(sarvanam)

संज्ञा के स्थान पर या संज्ञा के बदले प्रयोग किए जाने वाले शब्द को सर्वनाम(sarvanam) कहते है। सर्वनाम का अर्थ है सर्व = सब और नाम = नाम , यानी सब का नाम । जैसे दोस्तो किसी के एक नाम से सिर्फ एक व्यक्ति का बोध होता है। यानी मोहन नाम से सिर्फ मोहन नाम के लड़के का बोध होता है। लेकिन मोहन , सोहन , मीरा ये सभी स्वयं के लिए मैं शब्द का प्रयोग करते हैं और मैं शब्द सब के नाम के स्थान पर प्रयोग किया जाता है। अतः हम कह सकते है की संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किए जाने वाले शब्द को सर्वनाम कहते है।

उदाहरण
मोहन एक अच्छा लड़का है।
वह रोज विधालय जाता है।
यहां वह शब्द सर्वनाम है जो मोहन के स्थान पर प्रयोग किया गया है।

मूलतः सर्वनाम की संख्या 11 है।
मैं , तू , आप , यह , वह , जो , सो , कौन , क्या , कोई और कुछ ।

सर्वनाम(sarvanam) छः प्रकार के होते हैं।

• पुरुषवाचक सर्वनाम मैं , तू
• निश्चयवाचक सर्वनाम यह , वह
• अनिश्चय वाचक सर्वनाम कोई , कुछ
• निजवाचक सर्वनाम आप
• प्रश्नवाचक सर्वनाम कौन , क्या
• संबंधवाचक सर्वनाम जो , सो

1. पुरुषवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग स्त्री और पुरुष दोनों के लिए किया जाता है।पुरुषवाचक सर्वनाम कहलाता है। सर्वनाम का कोई लिंग नही होता है। इसके लिंग का निर्धारण क्रिया से होता है।

उदाहरण
• मैं विधालय जा रहा हूं।
• तू पढ़ाई कर रही हो।
• आप अच्छे काम करते हैं।
• मै पढ़ाई करने जाता हूं।

भाषा किसे कहते है ?और भाषा के कितने रूप है?

sarvanam in hindi
sarvanam in hindi

पुरुषवाचक सर्वनाम को तीन भागों में बाटा गया है_

• उत्तम पुरुष मैं , हम
• मध्यम पुरुष तू , आप
• अन्य पुरुष वह

क. उत्तम पुरुष
जिस सर्वनाम का प्रयोग बात कहनेवाले के लिए हो, इसके अंतर्गत मै और हम शब्द आते है। जैसे

मै कहा था कि आगे खतरा है।

ख. मध्यम पुरुष
जिस सर्वनाम का प्रयोग उसके लिए हो , जिससे कोई बात कही जाती है। इसके अंतर्गत तू , तुम , आप शब्द आते हैं जैसे
मै आपको सतर्क किया था।

ग. अन्य पुरुष
जिस सर्वनाम का प्रयोग उसके लिए हो जिसके विषय में कुछ कहा जाता है। इसके अंतर्गत वह शब्द आते है। जैसे
मै आपको सतर्क किया था की वह भाग जाएगा।

2. निश्चयवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम से किसी वस्तु , व्यक्ति या पदार्थ के विषय मे सटीक और निश्चय ज्ञान हो ,निश्चयवाचक सर्वनाम कहलाता है। इसके अंतर्गत यह , वह शब्द आते है। जैसे
• यह बुलंद दरवाजा है।
• यह व्यक्ति पागल है।
• वह कुत्ता पालतू है।

3. अनिश्चय वाचक सर्वनाम

वह सर्वनाम जो किसी व्यक्ति , वस्तु या पदार्थ के बारे में निश्चिता का बोध नही कराता हो , अनिश्चय वाचक सर्वनाम कहलाता है। जैसे
• आपके घर कोई आया था।
• कुछ काम करो।
• कुछ समय पहले ।

4. निजवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग कर्ता स्वयं के लिए करता है। उसे निज वाचक सर्वनाम कहते है। जैसे
• आप क्या खा रहे है?
• आप खा जा रहे हो?

5. प्रश्नवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम का प्रयोग प्रश्न करने के लिए किया जाता है,
प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते है। जैसे
• कोन आया है?
• सफाई कोन करेगा?

6. संबंधवाचक सर्वनाम

जिस सर्वनाम से एक शब्द या वाक्य का दूसरे शब्द या वाक्य से संबंध जाना जाता है। , संबंधवाचक सर्वनाम कहलाता है। जैसे
• जैसी करनी ,वैसी भरनी
• जो बोओगे वही पाओगे

और पढ़े

Leave a Comment